• Login Website
खसरा मुक्त रूबेला वैक्सीन का आयोजन

खसरा मुक्त रूबेला वैक्सीन का आयोजन

by Saurabh jaiswal 2018-11-22

राष्ट्रीय लखनऊवाइट्स

 

लखनऊ। मुख्य चिकित्साधिकारी सभागर में रूबेला वैक्सीन की जानकारी हेतु बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में विदेश से आई एटलांटा की सी डी एस ट्वीसी राइट ने भाग लिया  जिसपर ट्वीसी राइट खासतौर पर इस अभियान को देखने के लिए विदेश से लखनऊ आई है  ट्वीसी राइट का कहना है इस अभियान के बारे में अपने देश मे भी ऐसे लोगो को जागरूक करेंगे। डॉ सुनीत सक्सेना सहित कई कर्मचारी  मौजूद रहे। एडिशनल सी एम ओ डॉ एम के सिंह ने बताया है कि मिजिल्स एवं रूबेला टीकाकरण राजधानी के हर नौ माह से पंद्रह वर्ष तक के बच्चो को लगाया जायेगा जिसके लिये हर मदरसे,सरकारी,प्राइवेट स्कूलों को भी निर्देश दिये गये है कि हर अभिभावक को इस टीकाकरण की जानकारी उपलब्ध कराई जाए। रूबेला जो कि खसरा जैसी बीमारी है इसमें संक्रमित बच्चो को बुखार,चकत्ते,खांसी एवं आंख पानी आने जैसी परेशानियां होती है।एम आर (मजिल्स एवं रूबेला) वैक्सीन एक सौ पचास से अधिक देशों में इसका उपयोग किया जा रहा है । प्राइवेट चिकित्सालय में इस वैक्सीन का नाम एम .एम.आर वैक्सीन है जोकि बच्चो को लगने के बाद कभी भी एम.आर वैक्सीन लगाया जा सकता है। सरकार ने इस वैक्सीन का नाम एम.आर रक्खा है तो प्राइवेट हॉस्पिटल में इसे एम.एम.आर वैक्सीन के नाम से जाना जाता है। जिन बच्चो के एम .एम. आर वैक्सीन लगाई गई है तो दूसरे दिन भी एम. आर वैक्सीन लगाया जा सकता है परंतु जिसे तेज बुखार या फिर एम.एम.आर से एलर्जी है तो उन्हें यह टीकाकरण नही दिया जायेगा। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ नरेंद्र अग्रवाल ने बताया है कि एम.आर वैक्सीन 26 नवम्बर से पांच सप्ताह तक यह अभियान चलाया जायेगा राजधानी के हर बच्चो को खसरा और रूबेला जैसी बीमारियों से बचाया जायेगा इसके लिये राजधानी में 617 टीम प्रतिदिन लगाई जाएंगी। राजधानी के सत्रह लाख पचपन हजार बासठ  बच्चो का लक्ष्य रक्खा गया है। यह वेक्सीन राजधानी के हर सरकारी चिकित्सालयों में उपलब्ध रहेगा जिससे आम जनमानस इस वैक्सीन का लाभ उठा सके। यह वैक्सीन पूरी तरह से लोगो को निःशुल्क उपलब्ध कराई जायेगी। डी एम कौशल राज शर्मा ने इस अभियान को गंभीरता से लेते हुये 102 स्कूलों की मान्यता समाप्त करने का आदेश विद्यायल निरीक्षक मुकेश सिंह को दी है इन स्कूलों ने अपने यहाँ छात्र एवं छात्राओं को इस अभियान की सूचना नही दी थी जिसपर डी एम कौशल राज शर्मा ने कार्यवाई के आदेश जारी कर दिये है।

क्या है खसरा और रूबेला रोग

 

खसरा रोग

खसरा बच्चो में होने वाली एक गंभीर संक्रामक वायरल बीमारी है यह बच्चो में अपंगता एवं मृत्यु के बड़े कारणों में से एक है

 

यह बीमारी खांसने, छीकने से एक दूसरे में फैलती है

 

खसरा के आम लक्षण तेज बुखार के साथ त्वचा पर लाल चकत्ते,खांसी,बहती नाक,एवं आंखे लाल होती है

 

खसरे से निमोनिया,दस्त,दिमागी संक्रमण जैसी खतरनाक जटिलतायें हो सकती है

 

रूबेला रोग

 

रूबेला बच्चो और व्यस्को में होने वाली हल्की वायरल बीमारी है

 

गर्भावस्था में रूबेला से संक्रमण के कारण गर्भवती महिला से पैदा होने वाले बच्चे में संक्रमण होने से बच्चे में सी.आर.एस (कन्जेनाइटल रूबेला सिन्ड्रोम) होने का खतरा होता है जिससे जन्म लेने वाले शिशु जन्मजात हृदय रोग,बहरापन,अंधापन,मानसिक रोग जैसी गम्भीर बीमारियों से ग्रस्त होते है

 

व्यस्को में संक्रामण से गठिया,लिम्फएडीनोपैथी होने का ख़तरा रहता है

Share:

Comments

Leave a Reply